आज़ादी के इतने वर्षों के बाद भी धनबाद जिला के गोविंदपुर

आज़ादी के इतने वर्षों के बाद भी धनबाद जिला के गोविंदपुर प्रखंड के सबसे अंतिम सूदूरवर्ती आदिवासी बहुल मरिचो पंचायत के बेहराडीह मौजा के कुछ ग्रामीण लालटेन- ढीबरी जलाकर जीने को मजबुर है , बिजली की पहूंच नहीं रहने से बच्चों की पढ़ाई बाधित रहती है, वहां पर पानी की सुविधाएं नहीं हैं, रास्ते का सुविधाएं नहीं हैं, की सरकारें आईं और चली गई लेकिन जनता आज भी अपने आप को ठगा महसूस कर रही है, ग्रामीणों का है कि सभी चुनावों में बढ़ चढ़ कर इसी आशा के साथ वोट करते ताकि हमारे गांव में बिजली जैसी मुलभूत सुविधाओं का समाधान हो सके । मरिचो पंचायत के युवा क्रांतिकारी सामाजिक कार्यकर्ता रंजीत कुमार महतो के द्वारा मामले को संज्ञान में लेकर बिजली विभाग के कार्यपालक अभियंता गोविंदपुर डिवीजन धनबाद कार्यालय, झारखंड बिजली वितरण निगम लिमिटेड,और संबंधित उच्च अधिकारियों को ग्रामीणों के द्वारा लिखित आवेदन देकर बिजली बहाल करने के लिए प्रयास किया गया है , रंजीत कुमार महतो का निरंतर प्रयास कि की सरकारें जागें , सरकारी अधिकारी समाज के सबसे अंतिम व्यक्ति तक पहुंचे और मूलभूत सुविधाओं का समाधान हो

Related posts