जिला स्तरीय एक दिवसीय प्रशिक्षण झारखंड शिक्षा परियोजना एवं यूनिसेफ के द्वारा संयुक्त आयोजन सम्पन्न



हजारीबाग संत रॉबर्ट बालिका मध्य विद्यालय में वाश टूल किट पर जिला स्तरीय एक दिवसीय प्रशिक्षण झारखंड शिक्षा परियोजना एवं यूनिसेफ के संयुक्त रुप से आयोजित किया गया।जिसका मुख्य उद्देश्य है जिला स्तर से प्रशिक्षित हुए प्रतिभागी अपने-अपने प्रखंड में विद्यालय प्रबंधन समिति, विद्यालय के बाल संसद और सफाई कर्मियों को स्वच्छता के महत्व, स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार और माहवारी स्वच्छता प्रबंधन के बारे में जानकारी देंगे। प्रशिक्षण का सर्वप्रथम शुरुआत जिला शिक्षा पदाधिकारी श्री मिथिलेश कुमार सिन्हा के शुभ हाथों से दीप प्रज्वलित कर किया गया मौके पर उपस्थित यूनिसेफ के राज्य समन्वयक श्री गौरव वर्मा शामिल हुए जिसमें प्रशिक्षण को संबोधित करते हुए जिला शिक्षा पदाधिकारी के द्वारा बताया गया कि हम लोग अपने-अपने विद्यालयों को किस तरह स्वच्छता के विषय में आगे लेकर जा सकते हैं वही यूनिसेफ के राज्य समन्वयक श्री गौरव वर्मा के द्वारा बताया गया कि हम लोग इस प्रशिक्षण के साथ-साथ प्रखंड स्तर, संकुल स्तर या पंचायत स्तर कार्य योजना बनाकर कैसे सभी को प्रशिक्षण दे सकते हैं साथ ही साथ उन्होंने बताया कि हम लोग वर्षा जल संचयन के लिए अपने विद्यालय में अपने समुदाय स्तर पर इस तरह का कार्य कर सकते हैं और जो उपयोग किया हुआ पानी को कैसे हम लोग किचन गार्डन के रूप में उपयोग कर सकते हैं। प्रशिक्षण में मुख्य भूमिका यूनिसेफ सहयोगी संस्था लीड्स के रितेश कुमार सिंह एवं संजय कुमार की रही। प्रशिक्षक के रूप में बीआरपी अभय कुमार एवं हेमंत कुमार तथा सीआरपी प्रणतोष कुमार सिंह एवं प्रभु कुमार साव पर उपस्थित थे।
प्रशिक्षण के दौरान निम्न बिंदुओं पर जानकारी दी गई जिसमें : –
1. स्वच्छता क्या है और उसके घटक 2. जल एवं उसके घटक
3. साबुन से हाथ धोना
4 रखरखाव एवं संचालन
5. व्यवहार परिवर्तन एवं क्षमता निर्माण
6. मॉनिटरिंग ऑफ वॉस
7. स्वच्छता एक्शन प्लान
8. स्वच्छता में प्रधानाध्यापक, शिक्षक, बाल संसद, विद्यालय प्रबंधन समिति, जिला एवं प्रखंड स्तर पदाधिकारी समुदाय का कार्य एवं दायित्व।
9. माहवारी स्वच्छता प्रबंधन के लिए मध्य एवं उच्च विद्यालय में एक अलग कक्ष की व्यवस्था की जाए जिसमें बच्चियां को विद्यालय आने में समस्या न हो । प्रशिक्षण में अतिरिक्त जिला कार्यक्रम पदाधिकारी सुनीला लकड़ा, सहायक कार्यक्रम पदाधिकारी शैलेंद्र कुमार, सहायक अभियंता नरेंद्र कुमार विभिन्न प्रखंडों से सीआरपी बीआरपी एवं शिक्षक कुल 35 प्रतिभागी उपस्थित थे ၊

Related posts