सिविल सर्जन के निर्देश पर अनियमितता की शिकायत को लेकर सोनो सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में जांच के लिए पहुंचे एसीएमओ

जमुई से सरोज कुमार दुबे की रिपोर्ट

जिले के सोनो प्रखंड क्षेत्र अंतर्गत सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सोनो में अनियमितता की शिकायत के बाद सिविल सर्जन के निर्देश पर एसीएमओ डॉ रमेश प्रसाद, जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ अमित रंजन, डॉक्टर धीरेंद्र कुमार धुसिया शुक्रवार को जांच के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सोनो पहुंचे। मृतक आगे बताते चलें कि दरअसल बीते जनवरी माह में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सोनो में आयोजित बंध्याकरण शिविर में बंध्याकरण के लिए आने वाले मरीजों व उनके परिजनों से स्वस्थ कर्मियों द्वारा अवैध वसूली किए जाने के मामले को विभिन्न समाचार पत्रों ने प्रमुखता से प्रकाशित किया था। इस दौरान ऑपरेशन के लिए पहुंची महिला और उनके परिजनों ने स्वास्थ्य कर्मियों पर पांच सौ से एक हज़ार रुपये तक की वसूली का आरोप लगाया था। इतना ही नहीं ऑपरेशन के बाद महिलाओं को बेड के बदले जमीन पर लेटा दिया गया था। यह बात भी सच है कि इस तरह का मामला अस्पताल में आए दिन होते रहता है भले लोग इससे पल्ला झाड़ा लें । वही मामले की जांच को पहुंचे एसीएमओ डॉ रमेश प्रसाद ने प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ शशि भूषण चौधरी,प्रखंड स्वास्थ्य प्रबंधक जूही अल्का को निर्देश दिया कि स्वास्थ्य केंद्र में उपलब्ध बेड के अनुसार शिविर में महिलाओं का बंध्याकरण करें। वहीं शिकायतकर्ता के उपस्थित नहीं रहने के कारण अवैध वसूली के मामले की जांच नहीं हो सकी। मौके पर चिकित्सा पदाधिकारी डॉ सुजीत कुमार, डॉ अजीत कुमार, डॉ अरविंद कुमार गुप्ता, डॉ विमल कुमार, सचिन कुमार, राजेश कुमार आदि मौजूद थे।

Related posts