झरिया मातृ सदन अस्पताल में प्रसूता की मौत,परिजनों का हंगामा इलाज में लापरवाही बरतने का आरोप

झरिया के मातृ सदन अस्पताल में इलाजरत 30 वर्षीय एक गर्भवती महिला की शुक्रवार को मौत हो गई। मृत्यु के बाद परिजनों ने अस्पताल के चिकित्सक और प्रबंधन पर लापरवाही बरतने का आरोप लगाते हुए जमकर हंगामा किया। इस दौरान अस्पताल प्रबंधक से धक्का मुक्की भी हो गई। सूचना पर झरिया पुलिस घटनास्थल पर पहुँची। आक्रोशित लोगों को समझा बुझाकर फिलहाल शांत करवाया। समाचार लिखे जाने तक मृतका का शव अस्पताल में ही पड़ा हुआ है। मृतका रोशन खातून कुसुंडा स्टेशन हाजरा बस्ती की रहने वाली थी।

अयोग्य चिकित्सक के कारण हुई मौत:

पीड़ित परिजनों ने बताया की बुधवार की देर रात महिला रोशन को पेट दर्द होने पर अस्पताल लाया गया था चिकित्सकों ने महिला का इलाज शुरू किया।कुछ घंटो के बाद बताया की बच्चा पेट में मृत है। जिस पर परिजनों ने बच्चा निकालने की बात कही लेकिन चिकित्सक ने खून की कमी बताकर दो दिनों तक उलझाए रखा और शुक्रवार की शाम को महिला के मौत हो जाने की सूचना दी। इसमें चिकित्सकों ने सरासर लापरवाही बरती है।

ब्लड चढाने के दौरान महिला की मौत: डां. मकसुद

इस संबंध में अस्पताल चिकित्सक मो. मकसूद ने कहा की महिला के पेट में बच्चा मर गया था. खून की कमी के कारण ऑपरेशन नही किया गया. खून चढ़ाया जा रहा था की अचानक महिला की मौत हो गयी.

Related posts