Gaya:उड़ान भरती एनसीसी की “ सायकलोंथोन टीम “ को सीयूएसबी ने कहा “नमस्ते”



गया दक्षिण बिहार केन्द्रीय विश्वविद्यालय (सीयूएसबी) ने अपने परिसर में “नमस्ते – फ्लाइंग साइक्लोथॉन” कार्यक्रम आयोजित करके बिहार और झारखंड निदेशालय की “फ्लाइंग साइक्लोथॉन” टीम के एनसीसी कैडेटों का स्वागत किया गया है। सीयूएसबी के कुलपति प्रोफेसर कामेश्वर नाथ सिंह के मार्गदर्शन में विवि विवेकानंद व्याख्यान परिसर में एनसीसी बी एंड जे डीटीई, गया समूह मुख्यालय, के सहयोग से ‘स्वर्णिम विजय साइक्लोथॉन विजयचक्र’ नामक कार्यक्रम आयोजित किया गया है । इस अवसर पर सीयूएसबी के रजिस्ट्रार कर्नल राजीव कुमार सिंह ने कैडेटों का स्वागत किया उनकी हौंसला अफ़ज़ाई की और उन्होंने सशस्त्र बलों की सेवा के दिनों के अपनी यादों को साझा किया गया है|
इस अवसर पर अपने संबोधन में कर्नल एम.के. चौहान, कमांडिंग ऑफिसर, 27 बिहार बीएन एनसीसी, गया ग्रुप ने उड़ान टीम का रूट चार्ट साझा किया गया है | उन्होंने कहा कि टीम ने पटना से अपनी यात्रा शुरू की और आरा पहुंचने के लिए 54 किमी की दूरी तय की, उसके बाद उन्होंने बक्सर पहुंचने के लिए 80 किमी की दूरी तय की। आगे वे 60 किलोमीटर का सफर तय कर औरंगाबाद पहुंचे और 74 किलोमीटर साइकिल चलाकर सीयूएसबी परिसर पहुंचे। यहाँ विश्राम कर उड़ान टीम सोमवार को राजगीर के लिए रवाना होगी । इस यात्रा के उद्देश्य के बारे में बताते हुए कर्नल चौहान ने कहा कि भारत हमेशा से शांति प्रिय रहा है और मानवता की रक्षा हेतु हमेशा कृतसंकल्प रहा है इस यात्रा का उद्देश्य आम जन तक सेना के शौर्य को पहुंचना साथ ही 1971 कि लड़ाई के नायकों को सम्मानित करना है।आगे इस मौके पर डिप्टी कमांडर गया ग्रुप एनसीसी हेड क्वार्टर के कर्नल प्रशांत त्रिपाठी एवं प्रशासनिक अधिकारी कर्नल जे एन कुमार ने सायकल दौर के प्रतिभागियों को संबोधित कर एनसीसी के मौलिक उद्देश्य देशभक्ति और राष्ट्र निर्माण में उनकी भूमिका से अवगत कराया गया है । स्वागत समारोह में उड़ान टीम के प्रतिभागियों ने 1971 पर आधारित नाटक का भव्य मंचन किया औऱ विश्वविद्यालय के छात्रों को 1971 की शौर्यगाथा से अवगत कराया। इस अवसर पर कैडेट्स की हौसला अफजाई के लिए उन्हें पुरस्कृत भी किया गया है । इस कार्यक्रम की संचालिका सीयूएसबी की एएनओ लेफ्टिनेंट प्रज्ञा गुप्ता ने बताया कि ये कार्यक्रम 28 दिनों तक चलेगा और 19 दिसंबर को इस कार्यक्रम का समापन होगा । उन्होंने बताया कि बिहार एवं झारखंड एनसीसी डायरेक्टरेट के पहल पर 1971 के स्वर्णिम विजय वर्ष एवं आज़ादी का अमृत महोत्सव के उपलक्ष पर स्वर्णिम विजय गाथा सायकलोंथोन नामक साईकल यात्रा का आयोजन किया गया है | इस कार्यक्रम को 22 नवम्बर को पटना से एडीजी बिहार झारखंड मेजर जर्नल एम इंद्रा बालन ने झंडी दिखा कर की एवं इसके समन्वय की जिम्मेदारी 27 बिहार बटालियन एनसीसी की टीम को दी थी | इस यात्रा के दौरान टीम उड़ान पूरे बिहार के दौरे पर निकली है जिसमे इस टीम ने लगभग 1600 किमी की यात्रा तय करने का संकल्प लिया है वो उड़ान टीम 500 कि मी की यात्रा तय कर सीयूएसबी पहुंची जिसका विश्वविद्यालय में भव्य स्वागत किया है।इसकार्यक्रम का समापन विश्वविद्यालय के छात्र कल्याण अधिष्ठाता प्रो० आतिश पराशर के धन्यवाद ज्ञापन से हुआ है। इस मौके पर विश्वविद्यालय के कुलानुशासक प्रो उमेश सिंह, प्रो वेंकटेश सिंह, प्रो रेखा अग्रवाल, एवं कई वरिष्ठ शिक्षक एवं छात्र मौजूद थे।

Related posts