Gaya:शब्दाक्षर’ की लखनऊ जिला समिति द्वारा काव्य-सम्मान अनुष्ठान



गया साहित्यिक संस्था ‘शब्दाक्षर’ की लखनऊ जिला समिति द्वारा काव्य-सम्मान अनुष्ठान के आयोजन की अध्यक्षता ‘शब्दाक्षर’ प्रदेश अध्यक्ष उत्तर प्रदेश श्यामल मजूमदार (लखनऊ) ने की है। मंचासीन अतिथियों में शब्दाक्षर के राष्ट्रीय सलाहकार तारक दत्त सिंह (कोलकाता), राष्ट्रीय संगठन मंत्री शब्दाक्षर सुरेश फ़क्कड़ (उन्नाव), शब्दाक्षर दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष संतोष संप्रीति (नई दिल्ली), अंतर्राष्ट्रीय कवयित्री मानसी द्विवेदी (अयोध्या), शब्दाक्षर लखीमपुर खीरी समिति के जिलाध्यक्ष शशिकांत मिश्र शशि तथा शब्दाक्षर कानपुर के जिलाध्यक्ष अनुराग सैनी के नाम शामिल हैं। प्रधान अतिथि कोलकाता से पधारे शब्दाक्षर के संस्थापक-सह-राष्ट्रीय अध्यक्ष रविप्रताप सिंह ने कवयित्री माधुरी मिश्रा ‘मधु’ (लखनऊ) के कविता संग्रह ‘काव्य माधुरी’ लोकार्पण अपने करकमलों से किया गया है। सिंह सहित देश के विभिन्न राज्यों से आमंत्रित अतिथियों को काव्य अनुष्ठान के आयोजकों ने पुष्पगुच्छ तथा अंगवस्त्रम प्रदान कर सम्मानित किया गया है। काव्यगोष्ठी में आमंत्रित सभी रचनाकारों ने एक से बढ़कर एक रचनाएँ पढ़ीं, जिन्हें सुनकर श्रोतागण मंत्रमुग्ध हो गये तथा कार्यक्रम स्थल वाहवाहियों से गूंज उठा है।इस कार्यक्रम का संचालन ‘शब्दाक्षर’ के उत्तर प्रदेश सचिव रवीश पाण्डेय ने तथा संयोजन ‘शब्दाक्षर’ लखनऊ के जिलाध्यक्ष संतोष कुमार तिवारी ‘हिन्दवी’ ने किया गया है। इस काव्य अनुष्ठान में अमन शुक्ला शशांक, प्रवीण कुमार पाण्डेय, दिशा सिंह नवल, सरला शर्मा, रजनी श्रीवास्तव, मुकेश कुमार तिवारी, श्रुति भट्टाचार्य, शिव प्रताप सिंह, डॉ सुभाषचंद्र रसिया, श्रवण गुप्ता, संजय कुमार आदि ने अपनी कविताओं को पढ़ा गया है।इस कार्यक्रम के सफल आयोजन पर राष्ट्रीय अध्यक्ष रविप्रताप सिंह ने हार्दिक खुशी जताई और कहा कि शब्दाक्षर परिवार दिनानुदिन पल्लवित एवं पुष्पित हो रहा है, जिसका श्रेय निश्चित रूप से इसके कर्मनिष्ठ पदाधिकारियों और समर्पित सदस्यों को जाता है। संस्था के आयोजनों की प्रसारण प्रभारी व राष्ट्रीय प्रवक्ता ‘शब्दाक्षर’ प्रो.डॉ.रश्मि प्रियदर्शनी ने बताया कि सारे देश में साहित्यिक आयोजनों की श्रृंखलाबद्ध रुपरेखा बनाई गयी है ताकि आने वाले समय में ‘शब्दाक्षर’ के माध्यम से हिन्दी का परचम सिर्फ भारतवर्ष में ही नहीं, अपितु विदेशों में भी गौरव के साथ लहरा सके।

Related posts