पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर दरखा पंचायत के नवनिर्वाचित मुखिया प्रकाश महतो हत्या मामले में आत्मसमर्पण नहीं करने पर अभियुक्त बलडा गांव निवासी नुनुलाल तांती के घर का कुर्की

जमुई से सरोज कुमार दुबे की रिपोर्ट

जिले के सिकंदरा थाना क्षेत्र के चर्चित दरखा पंचायत के नवनिर्वाचित मुखिया प्रकाश महतो हत्या मामले में आत्मसमर्पण नहीं करने पर अभियुक्त बलडा गांव निवासी नुनुलाल तांती के घर का मंगलवार को जमुई पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर कई थानों की पुलिस के द्वारा कुर्की जब्ती की गई। बताते चलें कि एसडीपीओ डॉ राकेश कुमार, सर्किल इंस्पेक्टर अरविंद कुमार, लछुआड़ थानाध्यक्ष वीरेंद्र कुमार, चंद्रदीप थानाध्यक्ष आशीष कुमार सहित कई पुलिस पदाधिकारियों के संयुक्त टीम के द्वारा अभियुक्त नुनु लाल ताॅती के घर का कुर्की किया गया। बता दें कि 3 दिसंबर की संध्या बालडा मोड़ के समीप दरखा पंचायत के नवनिर्वाचित मुखिया प्रकाश महतो की हत्या गोली मारकर अपराधियों ने कर दी थी। जिसमें मृतक मुखिया के पुत्र सुजीत कुमार महतो के द्वारा लछुआड़ थाने में पूर्व मुखिया मरकामा गांव निवासी मोहम्मद सालिक मलिक, मोहम्मद नौशाद, मोहम्मद सिकंदर, सालिक मलिक का पुत्र सहित बालडा गांव निवासी नुनुलाल तांती को हत्या का अभियुक्त बनाया था। जिसके बाद पुलिस के द्वारा अभियुक्तों के घर पर 16 दिसंबर दिन गुरुवार को न्यायालय में आत्मसमर्पण के लिए इश्तेहार चिपकाया गया था। इश्तेहार चिपकाने के बाद पुलिस दबिश के कारण पूर्व मुखिया सालिक मल्लिक सोमवार को जमुई न्यायालय में आत्मसमर्पण कर दिया। वही अन्य अभियुक्त को आत्मसमर्पण नहीं करने पर मंगलवार को बालडा गांव निवासी नुनुलाल तांती के घर का कुर्की किया गया। लेकिन शातिर नुनुलाल तांती अपने घर में रखे सारे सामान को पहले ही हटा दिया था। पुलिस जब अभियुक्त के घर पहुंची तब घर के अगले दरवाजे में ताला लगा हुआ था। लेकिन जब घर के पीछे से प्रवेश किया गया तब घर पूरा खाली पाया गया। लेकिन पुलिस के द्वारा गैस कटर के माध्यम से घर के सभी दरवाजे खिड़की को काट दिया गया। साथ ही घर में एवं आसपास रखें लोहे के इंजन, कुट्टी काटने वाला मशीन, सौर प्लेट, लोहे के पाइप, झाड़ू सहित अन्य सामानों का कुर्की कर लिया गया। घर को भी पूरी तरह से चौकीदार एवं जवानों के द्वारा हथौड़े से वार का क्षतिग्रस्त कर दिया गया एवं पास में लगे अल्वेस्टर को जप्त कर लिया गया। कुर्की के दौरान गांव के सभी महिला पुरुष एवं बच्चों की भीड़ इधर उधर इस कदर था कि सभी लोग जैसे तमाशा देख रहे हो। इस दौरान एसडीपीओ डॉ राकेश कुमार ने कहा कि अन्य अभियुक्त माननीय न्यायालय के समक्ष आत्मसमर्पण करें नहीं तो उनके घर की भी कुर्की की जाएगी। उन्होंने कहा कि कानून के हाथ लंबे होते हैं आपराधी कानून को अपने हाथ में ना लें अन्यथा उनके विरुध कठोर से कठोर कार्रवाई की जाएगी। मौके पर अवर निरीक्षक विजेंद्र कुमार सिंह, उमेश कुमार, सहायक अवर निरीक्षक राजकिशोर पासवान, मोहम्मद सरफुद्दीन सहित दर्जनों की संख्या में महिला पुरुष जबान एवं चौकीदार शामिल थे।

Related posts