जमुई:रक्षक के द्वारा भक्षण चरका पत्थर के विभिन्न ने जंगलों वन समिति अध्यक्ष के द्वारा पेड़ों की कटाई अंधाधुन




जमुई से सरोज कुमार की रिपोर्ट


जिले के सोनो प्रखंड क्षेत्र के
चरकापत्थर वन समिति अध्यक्ष के द्वारा भूमि जल संरक्षण कार्य में धांधली बरतने का मामला प्रकाश में आया है। इस बाबत चरका पत्थर के विभिन्न क्षेत्रों के दर्जनों ग्रामीणों ने बिहार सरकार के मुख्यमंत्री, वन मंत्री सहित प्रधान मुख्य वन संरक्षक, पटना व मुख्य क्षेत्रीय वन संरक्षक भागलपुर को आवेदन देकर मामले की जानकारी दी है। पंचायत समिति सदस्य प्रतीक्षा यादव द्वारा अनुशंसित आवेदन में मोहन यादव, जितेंद्र यादव, नीतीश कुमार, बेबी देवी, प्रकाश यादव,विजय यादव सहित दर्जनों ग्रामीणों ने चरकापत्थर वन समिति अध्यक्ष वेंगू यादव को आरोपित करते हुए बताया कि इस वर्ष फरवरी से अप्रैल के बीच लालीलेवार भूमि जल संरक्षण योजना चरकापत्थर, चरैया भूमि जल संरक्षण योजना चरकापत्थर, पनारी भूमि जल संरक्षण योजना बटिया, रघुनाथा भूमि जल संरक्षण योजना बटिया,हेठ बटिया भूमि जल संरक्षण योजना बटिया में जल संरक्षण के लिए मिट्टी व पत्थर का चेक बनाया गया। अध्यक्ष व विभाग की मिलीभगत से काम का ठेका वन समिति के अध्यक्ष के पुत्र पप्पू यादव को दिया गया, लेकिन कार्य स्टीमेट के अनुसार नहीं हुआ। सभी कार्य कागजों पर तो दिखाया गया परंतु धरातल पर कुछ भी नहीं उतरा सारा पैसा इन लोगों के द्वारा हड़प कर गया । सिर्फ इन कार्यों में सरकारी राशि का दुरुपयोग हुआ। सरकारी राशि की बंदरबांट की गई है। ग्रामीणों ने अध्यक्ष पर कटहावर पहाड़ 64 , चरैया , बरमोरिया , असरखो इत्यादि जंगलों से जंगल की मोटी मोटी कीमती लकड़ी को काटकर चोरी छुपे चरका पत्थर से गगनपुर कच्ची रास्ता फॉरेस्ट रोड के माध्यम से तीसरी झारखंड लकड़ी कटवा कर आदिवासी समूहों के साथ मिलकर सप्लाई किया जा रहा है । जिसकी जानकारी ग्रामीणों को जब मिली और उन्होंने इसका विरोध करना शुरू कर दिया और बेचने का भी आरोप लगाया है। ग्रामीणों ने बताया कि दिनांक 01/06 /2021 समय दोपहर 11:53 बजे बेंगू यादव अपने भाई कार्तिक यादव एवं भतीजा के साथ मिलीभगत से लकड़ी की कटाई चरका पत्थर के जंगलों से कर रहा था जिसका वीडियो ग्रामीणों के द्वारा बनाया गया जिसे वन विभाग को दिया गया । जिस पर जांच की कार्यवाही होने पर पप्पू यादव एवं बेंगू यादव के समस्त परिवार ने मिलकर वीडियो बनाने वाले ग्रामीणों पर जानलेवा हमला भी किया है । जिसका केश चरका पत्थर थाना कांड संख्या 134 21 में दर्ज है और विचाराधीन है । इस तरह जब कोई इसका विरोध करता है तो उसे जान मारने की धमकी दी जाती है। तथा झूठे केस में फंसाने की भी धमकी दी जाती है । ग्रामीणों ने निष्पक्ष वन समिति अध्यक्ष का चुनाव कराने के साथ ही जांच कर दोषियों पर कार्रवाई करने की मांग की है। सभी ग्रामीण जो इसमें दस्तखत किए हैं वह सही से अपने घरों पर नहीं रह सकते हैं क्योंकि उनको बार-बार धमकी दिया जाता है जिस कारण डर से वह इधर-उधर भागते फिरते हैं कुछ लोग तो अपने घर छोड़कर बाहर कमाने के लिए भी चले गए हैं उन लोगों के डर से जो कोई भी उनका विरोध करता है वह वहां रहने के काबिल नहीं रहता है

Related posts