बिहार के सुपौल मे चल रहा फर्जीवाड़ा तरीके से आशा बाहाली ग्रामीणों से नल-जल योजना के पानी टंकी चालू कराने के नाम पर फर्जी दस्तखत करवाए




सुपौल जिला अंतर्गत छातापुर प्रखंड के चुन्नी पंचायत वार्ड संख्या 09 में बीते कुछ दिन पहले आशा बहाली को लेकर अनियमितता सामने आया है। इससे पहले आशा पद पर कंचन कुमारी पति सुनील मंडल जो पद से विमुक्त हो गई। यह पद खाली था और इस पद के लिए विभा कुमारी पति शैलेंद्र कुमार ने आवेदन दिया था लेकिन वार्ड संख्या 09 के वार्ड सदस्य और वहां के स्थानीय ग्रामीणों के गैरमौजूदगी में बिना सूचना के ही चोरी-छिपे आशा बहाली प्रक्रिया नियम कानून को ताक पर रखकर आशा बहाली प्रक्रिया धांधली तरीके से पूर्ण किया जिसमें चुन्नी पंचायत के सरपंच की छोटी बहू को फर्जी तरीका से आशा कार्यकर्ता बहाल कर दिया गया । इस संबंध में ग्रामीणों ने बताया कि अमरेंद्र कुमार के आवास स्थित मुख्यमंत्री नल-जल योजना से पानी टंकी का निर्माण हुआ है। जो पानी सप्लाई देने की बात कह कर ग्रामीणों से धोखा-धड़ी करके फर्जी दस्थखत करवा कर अपनी पत्नी उषा कुमारी को आशा पद पर बहाली करवा लिए । वही इस संबंध में वार्ड संख्या 09 के वार्डसदस्य को भी कोई जानकारी नही है। यह मामला तब प्रकाश में आया जब पोलियो उन्मूलन की खुराक पिलाया जा रहा था और उषा कुमारी के जगह अमरेंद्र कुमार पोलियो खुराक पिलाने के लिए पहुंच गए। ग्रामीण एवं शलेन्द्र कुमार और उनकी पत्नी विभा कुमारी की मांग है। कि इस बहाली को रद्द किया जाए और पुन: पूरी पारदर्शिता के साथ बहाली हो और सभी वार्ड वासियों के समक्ष सरकारी नियमानुसार बहाली हो ना की पहुंच के आधार पर इस संबंध मे चुन्नी पंचायत के सरपंच का दबंगई रूप भी सामने आया है। मामला प्रकाश में आने के बाद विभा कुमारी और ग्रामीणों के द्वारा प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी को आवेदन देकर इस अवैध आशा बाहाली के बारे में बताया गया और रद्द करने की मांग की गई। जबकि जबकि उसी वार्ड के प्रतिनिधि वार्ड सदस्य लक्ष्मी देवी ने सरपंच के दबंगई का उल्लेख किया है कि सरपंच ने मेरा फर्जी साइन किया है और मेरा मोहर फर्जी तरीके से बना करके परसोंडिंग पर लगाया गया है! मैं चिकित्सा प्रभारी से हाथ जोड़कर निवेदन करता हूं कि इस पर उच स्तरीय जाँच कराया जाए और सरपंच के ऊपर कानून कारवाई। किया जाए। नहीं तो हम डीएम एसडीएम जिला पदाधिकारी सभी के पास आवेदन लेकर के जाएंगे।

Related posts