संगीतकार दिलीप सेन दादा साहेब फाल्के आइकॉन अवार्ड से सम्मानित

दादा साहेब फाल्के आइकॉन अवार्ड फिल्म्स आर्गेनाईजेशन के द्वारा आयोजित दादा साहेब फाल्के आइकॉन अवार्ड 2021 समारोह में बॉलीवुड के मशहूर संगीतकार दिलीप सेन को अवार्ड दे कर सम्मानित किया गया। दिलीप सेन ग्रेट म्यूजिशियन जमाल सेन के पुत्र हैं। उन्होंने अपने भतीजे समीर सेन के साथ जोड़ी बनाकर करीब 250 फिल्मों में 1500 सॉन्गस में अपना म्यूजिक दे चुके हैं। इस संगीतकार जोड़ी का म्यूजिक सफर शुरू हुआ था जगदीप के डायरेक्शन में बनी फिल्म ‘सूरमा भोपाली’ (1988) से। उन्हें पहली बार पहचान मिली संजय दत्त-रवीना टंडन स्टारर फिल्म ‘जीना मरना तेरे संग’ (1992) से। यशराज फिल्म्स की ‘आईना’ और ‘ये दिल्लगी’ ने उन्हें टॉप क्लास के म्यूजिशियंस में लाकर खड़ा कर दिया। फ़िलवक्त बॉलीवुड में बतौर संगीतकार, उनकी सक्रियता के आलोक में कल्याण जी जाना के द्वारा आयोजित अवार्ड समारोह में अवार्ड दे कर सम्मानित किया गया है। भारतीय फिल्म उद्योग के ‘पितामह’ के रूप में विख्यात दादा साहेब फाल्के के नाम से प्रतिवर्ष आइकॉन अवार्ड, फिल्मविधा से जुड़े विभिन्न क्षेत्र में क्रियाशील प्रतिभाओं को देने की परम्परा कल्याण जी जाना ने अपनी संस्था के बैनर तले कायम किया है। अवार्ड समारोह के आयोजक कल्याण जी जाना ने बांद्रा(मुम्बई) स्थित मेहबूब स्टूडियो के पास दादा साहेब फाल्के का भव्य प्रतिमा स्थापित करने का निर्णय लिया है।

प्रस्तुति : काली दास पाण्डेय

Related posts