झरिया में सत्तारूढ़ पार्टी के स्थानीय विधायक समर्थक गुंडई पर उतारू हैं पानी की समस्या तो एक बहाना है रागनी सिंह

झरिया थाना क्षेत्र के ईस्ट भगत कॉलोनी में जमा करके एक सार्वजनिक नल को कब्जा किए जाने का विरोध करने पर मंगलवार की देर रात दो पक्षों में मारपीट एवं फायरिंग की घटना पर भाजपा प्रदेश कार्यसमिति सदस्य श्रीमती रागिनी सिंह ने भगतडीह पहुंच कर घायलों एवं भुक्तभोगियों से मुलाकात की जहा महिलाओं ने पड़ोस के ही रहने वाले पंकज तिवारी शेखर तिवारी कारू पांडेय कारण पांडेय शुभम पांडेय शिवम पांडेय चंदन वर्मा अजीम खान नामक युवकों ने जबरन उनके घर पर घुसकर मारपीट और महिलाओं के साथ छेड़ छाड़ का प्रयास किया वही स्थानीय लोगो ने बताया कि ये सभी स्थानीय विधायक समर्थक है और उनलोगो ने हथियार प्रयोग कर गोलियां भी चलाई वही धमकी देते हुए कहा कि हमारा कोई कुछ नही बिगाड़ सकता और थाना उनके जेब में है वही श्रीमती सिंह ने मीडिया को अपने दिए गए हैं बयान में कहा कि जब से झरिया में सत्ता का परिवर्तन हुआ है सत्तारूढ़ पार्टी के स्थानीय विधायक समर्थक गुंडई पर उतारू हैं पानी की समस्या तो एक बहाना है सच्चाई तो यह है कि यहां पर झरिया विधायक के सह इन मनचलों का मन इतना बढ़ा हुआ है कि वो सभी स्थानीय युवतियों एवं महिलाओं के साथ गलत करने की मंशा से घुसे और गाली गलौज और मारपीट कर युवतियों को जबरन उठाने का प्रयास किया जिसपर परिवार एवं पड़ोस के लोगो द्वारा विरोध करने पर उनके साथ भी मारपीट की गई पहले तो सिर्फ लोगो से पैसे और रंगदारी मांगी उन्हे परेशान किया जा रहा था वही अब उनपर सत्ता का ऐसा नशा चढ़ा है कि प्रशासन के नाक के नीचे ये बेटियो को जबरन उठाने का प्रयास कर रहे है और रंगदारी में बेटियो को मांग रहे है पानी की समस्या तो एक दिखावा है उनकी मंशा बहु बेटियो एवं महिलाओं के साथ गलत करने की थी लगातार प्रशासन को फोन करने के बावजूद भी प्रशासन सोई रही वही सत्ता के दवाब में प्रशासन ने मौन धारण कर रखा है और उल्टा भुक्तभोगियों पर ही कार्यवाही करने की धमकी दे रही है श्रीमती सिंह ने कहा कि ये बहुत ही निंदनीय घटना है और वो इसकी घोर निन्दा करती है उन्होंने जल्द ही इस मुद्दे पर धनबाद के एसएसपी से मिलने की बात कही और कहा कि वो इनलोगो के साथ है और अगर जल्द से जल्द दोषियों पर कार्यवाही नही की जाएगी तो वो झरिया थाने का घेराव करेंगी साथ ही भुक्तभोगी परिवार के लोगो एवं महिलाओं को सुरक्षा देने की मांग करती है ये सभी असुरक्षित है और प्रशासन इन्हे सुरक्षा देने के बजाय इनका ही शोषण कर रही है मैं धनबाद एसएसपी से झरिया थाना के अधिकारियों के स्थानांतरण की भी मांग करती हु।

Related posts