Dhanbad:राष्ट्र के निर्माण में निजी शिक्षकों की भूमिका काफी अहम रही है डॉक्टर परमानंद मोदी

धनबाद, शिक्षक दिवस के अवसर पर टाटा मोटर्स के साउथ गेट के पास भारतीय गैर सरकारी शिक्षक संघ इप्टा के द्वारा निजी शिक्षकों को सम्मानित किया गया। कार्यक्रम की शरुआत सर्वप्रथम डॉ. सर्वपल्ली राधा कृष्णन की तस्वीर पर संघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. परमानन्द मोदी ने माल्यार्पण कर समारोह की शुरुआत की । इसके तत्पश्चात संतोष कुमार रमण को साल ओढ़ाकर सम्मानित किया गया। ज्ञात हो की संतोष कुमार रमण एक पेड़ के नीचे अपना जीवन बिताते हुए अध्यापन का कार्य कर रहे हैं। संघ ने देश के करीब बीस राज्यों के निजी शिक्षकों को ऑनलाइन सम्मान पत्र देकर सम्मानित किया। संघ के अध्यक्ष डॉक्टर परमानंद मोदी ने भारत सरकार को कहा कि क्या सिर्फ सरकारी शिक्षक ही शिक्षक दिवस के दिन सम्मान पाने का अधिकार रखते हैं? क्या निजी शिक्षक की कोई योग्यता नहीं हैं? संघ के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रंजीत श्रीवास्तव ने कहा कि सरकार की मंशा निजी शिक्षकों के प्रति ठीक नहीं हैं जब की निजी शिक्षकों ने कोरोना काल में सरकार की हर गाइड लाइन का पालन किया, लेकिन निजी शिक्षकों पर थोड़ा भी ध्यान नहीं दिया और ना ही कोई पैकेज की मदद की।जबकि हर सेक्टर में सरकार ने कुछ ना कुछ लोगों की मदद की हैं । इससे साफ जाहिर होता हैं कि सरकार की रवैया निजी शिक्षकों के प्रति ठीक नहीं हैं।संघ के राष्ट्रीय महासचिव मनोरंजन गोश्वामी ने कहा कि सरकार कभी भी आई.आई. टी और प्रशासनिक अधिकारी नहीं बनाती । यह काम निजी शिक्षकों के द्वारा ही होता हैं । इसलिए सरकार को निजी शिक्षकों को भी सम्मान करना चाहिए।संघ ने इस मौके पर यह निर्णय लिया कि आगामी 5 सितम्बर 2022 को यदि निजी शिक्षकों को सरकार सम्मनित नहीं करती हैं तो भारतीय गैर सरकारी शिक्षक संघ इसका विरोध करेगा। हम सभी निजी शिक्षकों को एवं देश की शिक्षा सुदृढ़ बनाने हेतु हमारे सम्मानित शिक्षक संतोष कुमार रमण जी के नाम स्वेच्छा शुल्क विद्यालय का नमकरण इप्टा के नाम किया गया। सरायकेला खरसावां जिले के जिलाध्यक्ष एस. डी. प्रसाद ने कहा कि यह स्थान भगवान राम और परशुराम की तुलना करते हुए यहाँ एक गुरुकुल का स्थान हो ताकि गरीब एवं लाचार अभिभावक अपने बच्चे को आई. ए. एस,आई.पी.एस एवं अच्छे प्रशासनिक पदाधिकारी बना सके।
अंत में संगठन के संरक्षक विनोद वार्ष्णेय ने धन्यवाद ज्ञापन में कहा कि हम भारतीय गैर सरकारी शिक्षक संघ कि सराहना करते हैं कि आज के शुभ दिन पर एक गरीब शिक्षक संतोष कुमार रमण को सम्मान देकर पूरे देश की जनता की आँख खोलने और सही मार्गदर्शन देने का काम किया हैं ।जिसकी जितनी भी प्रशंसा की जाएं कम हैं।
इस समारोह को सफल बनाने में सर्वप्रथम संजीत चौरसिया, विनोद लहरी और अनिल शर्मा का भरपूर सहयोग रहा। इसके साथ साथ डॉ. नथुनी सिंह, आर. बी. निराला, अयोध्या प्रसाद , शैलेश शर्मा, शुभेन्दु पट्टनायक, अशोक प्रसाद, नीरज कुमार, अमित कुमार सुमित सिंह अनिल गुप्ता, वर्षा पाण्डेय, गीता सिंह, प्रकाश कुमार, आर. एन. चौरसिया, साक्षी सिंह रॉय, शीतल देवी, तनय दास तथा टिंकू मुखर्जी श्याम सुंदर आदि मौजूद
थे।

Related posts