हजारीबाग:एल एंड टी के अधिकारियों और पेटी कांट्रेक्टर के मनामनी से निगम वासी परेशान

*

हजारीबाग की सबसे बड़ी और महत्वाकांक्षी पेयजल आपूर्ति योजना कोनार डैम से हजारीबाग पाइप लाइन के जरिए पेयजल आपूर्ति करने की है। इस महत्वकांक्षी योजना के क्रियान्वयन में जुटी संवेदक कंपनी लार्सन एंड टूब्रो द्वारा कोनार डैम से बनासो होते हुए करीब 40 किलोमीटर का सफर तय करके करीब 800 किलोमीटर गोलाई के पाइप के अनुपचारित जल सदर विधानसभा क्षेत्र स्थित रोला पहुंचेगा, जहां रोला में वॉटर फिल्ट्रेशन प्लांट के निर्माण के जरिए शहर और शहर के आसपास में बनाए जा रहे 11 नए जल मीनार और पूर्व से स्थापित जल मीनारों के सहयोग से शहरी क्षेत्र के सभी 36 वार्डों के 11 घरों और आसपास के ग्रामीण इलाके के दर्जनों गांव में पाइप लाइन के जरिए पेयजल उपलब्ध कराया जाएगा। जनहित में विकास का यह कार्य बेहद जरूरी है ।

लेकिन लार्सन एंड टुब्रो कंपनी के द्वारा हजारीबाग नगर निगम क्षेत्र पेटी कांट्रेक्टर के माध्यम से कराए जा रहे हैं कार्य से पक्की सड़कों और सड़क के किनारे लगे तेवर ब्लॉक को डिस्ट्रॉय किया जाता है और इसे महीनों तक पुनः सुव्यवस्थित नहीं किया जा रहा है। जिससे हजारीबाग नगर निगम क्षेत्र की अधिकांश सड़के जर्जर हो रही है। इसे लेकर हजारीबाग वासियों में जन आक्रोश है और इसके खिलाफ विभिन्न अधिकारियों के यहां सैकड़ों आवेदन दिए जा चुके हैं। बतौर और सजग जनप्रतिनिधि हजारीबाग सदर विधायक मनीष जायसवाल इस मामले को गंभीरता से लेते हुए कई बार एल एंड टी के अधिकारियों को फटकार लगा चुके हैं और विगत 24 जुलाई 2021 को हजारीबाग के नए समाहरणालय सभा कक्ष में आयोजित जिला विकास समन्वय एवं मूल्यांकन समिति (दिशा) की बैठक में जनहित से जुड़े इस ज्वलंत मुद्दे को पुरजोर तरीके से उठाते हुए समिति के माध्यम से सभी जर्जर सड़कों को दुरुस्त करने हेतु संबंधित अधिकारियों से आग्रह किया था। समिति के समक्ष एल एंड नटी के अधिकारियों ने 15 दिनों का समय मांगा था और इस कार्य को सुव्यवस्थित करने की बात कही थी। लेकिन एल एंड टी द्वारा अब तक इसका पालन नहीं किया गया और जर्जर सड़कों का खामियाजा जनता भुगत रही है। सोमवार की दोपहर को कचहरी रोड में पाइप बिछाने के बाद उसपर मिट्टी भर देने के कारण एक चार पहिया वाहन उस पर फंस गया। काफी मशक्कत के बाद उसे यहां से निकाला गया। ऐसी घटनाएं अमूमन निगम क्षेत्र में प्रत्येक दिन देखी जा रही हैं। कृष्णापुरी निवासी समाजसेवी संजय कुमार यादव ने बताया कि कृष्णापुरी क्षेत्र में भी ऐसे ही एक पक्की सड़क पर पाइप बिछाने के बाद उस पर मिट्टी भरकर छोड़ दिया गया था जिससे स्थानीय लोगों को काफी परेशानी झेलनी पड़ रही थी। जब इस मामले को हजारीबाग सदर विधायक मनीष जायसवाल के संज्ञान में लाया तो उन्होंने तत्परता दिखाई और एल एंड टी अधिकारियों से बात कर पुनः से ढलाई करवा कर सुदृढ़ कराया ।
विधायक मनीष जायसवाल ने बताया की अगली बैठक में एल एंड टी के अधिकारियों और संबंधित ठेकेदारों पर कार्रवाई हेतु वे पुरजोर तरीके से मांग उठाएंगे और इसके बाद भी अगर संबंधित अधिकारी और ठेकेदार नहीं चेते तो वे आंदोलन को बाध्य होंगे।

Related posts