Dhanbad:भारी बारिश से प्रभावित परिवारों को कम्युनिटी किचन से मुहैया कराया जाएगा भोजन अलर्ट मोड में रहेंगे सभी बीडीओ, सीओ कोई भी अधिकारी मुख्यालय नहीं छोड़ेंगे





जिले में पिछले कुछ दिनों से जारी भारी बारिश के कारण प्रभावित परिवारों को कम्युनिटी किचन से भोजन मुहैया कराया जाएगा। अगले तीन-चार दिनों तक सभी प्रखंड के बीडीओ एवं सभी अंचल के सीओ अलर्ट मोड पर रहेंगे। बीडीओ और सीओ अपने क्षेत्र में जाएंगे और आम जनों का हाल जानेंगे। साथ ही नुकसान का आकलन कर जिला मुख्यालय को सूचना उपलब्ध कराएंगे।

यह निर्देश उपायुक्त श्री संदीप सिंह ने आज चक्रवती तूफान को लेकर आयोजित ऑनलाइन बैठक में दिया।

चक्रवती तूफान के कारण जलजमाव, घर गिरने, लोगों के चोटिल होने की सूचना एकत्रित की जाएगी। प्रभावितों को आपदा के तहत सहायता उपलब्ध कराई जाएगी। कोयला एवं भू-धंसान क्षेत्रों में गोफ इत्यादि की घटना पर क्विक रिस्पांस किया जाएगा। भारी बारिश के कारण जिन लोगों का घर गिर गया है उन्हें सुरक्षित स्थान पर बसाया जाएगा। बारिश के कारण क्षतिग्रस्त हुई सड़कों को बंद कर उसे तुरंत दुरुस्त किया जाएगा। प्रमुख रास्तों का निरीक्षण कर लोगों के लिए सुरक्षित यात्रा सुनिश्चित की जाएगी।

उन्होंने कहा मकान गिरने या जानमाल की क्षति होने पर संबंधित सीओ 24 घंटे के अंदर जिला प्रशासन को अभिलेख के साथ प्रतिवेदन प्रेषित करेंगे ताकि प्रभावित को अविलंब सहायता उपलब्ध कराई जा सके।

उपायुक्त ने कहा अगले आदेश तक कोई भी अधिकारी या कर्मचारी मुख्यालय नहीं छोड़ेंगे। अपना फोन ऑन रखेंगे। लोगों की समस्या का समाधान करना जिला प्रशासन की प्राथमिकता है।

बैठक के दौरान अंचल अधिकारी झरिया ने बताया कि चक्रवती तूफान के कारण 42 परिवार प्रभावित हुए हैं। जिन्हें चार सुरक्षित स्थानों पर स्थानांतरित कर दिया है। 6 व्यक्ति घायल हुए हैं, उनका इलाज एसएनएमएमसीएच में चल रहा है। कलियासोल के संबंध में वहां के बीडीओ ने बताया कि 6 घर गिर गए हैं। सभी को सुरक्षित स्थान पर बसाया गया है। पंचेत डैम पर सतत निगरानी रखी जा रही है।

बलियापुर में 21 मिट्टी के घर क्षतिग्रस्त हुए हैं। कुछ घरों में पानी घुस गया है। वर्तमान स्थिति सामान्य है। एग्यारकुंड में तीन तथा बाघमारा में 7 घर क्षतिग्रस्त हुए हैं। सभी को शेल्टर होम में रखा गया है और उन्हें भोजन भी उपलब्ध कराया जा रहा है। पुटकी में बीसीसीएल एरिया में भू-धंसान हुआ था परंतु जान-माल की क्षति नहीं हुई है। बीसीसीएल के साथ समन्वय स्थापित कर राहत कार्य चलाया जा रहा है।

Related posts