रांची: नशा करने के लिए नहीं मिला 200 रूपय तो युवक को गोली मारकर कर दी हत्या

रांची में एक युवक को गोली मारकर हत्या नशा करने के लिए 200 रुपये नहीं देने पर घटना को दिया अंजाम आरोपी फरार हिंदपीढ़ी में भारी संख्या पुलिस तैनात
रांची नशा करने के लिए 200 रुपये नहीं देने पर शनिवार की रात हिंदपीढ़ी में मुजाहिद आलम नामक एक युवक की गोली मार कर हत्या कर दी गई।जानकारी के मुताबिक पड़ोसी युवकों ने मुजाहिद से पैसे मांगे और नहीं देने पर उससे विवाद करने लगे। इसी बीच एक युवक ने मुजाहिद को गोली मार दी। हत्या की घटना को अंजाम देने के बाद हत्यारोपी मौके वारदात से फरार हो गए।हत्या की इस घटना के बाद इलाके में हलचल मच गई। आनन-फानन में मुजाहिद को अंजुमन अस्पताल ले जाया गया। यहां से गंभीर स्थिति को देखते हुए रिम्स रेफर कर दिया गया। लेकिन रिम्स के डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। हत्या की घटना के बाद हिंदपीढ़ी थाना की पुलिस, कोतवाली एएसपी मुकेश भी मौके पर पहुंचे। आसपास के लोगों से घटना की जानकारी ली। पुलिस हत्यारोपियों की तलाश में जुट गई है। हत्या की यह घटना हिंदपीढ़ी के ग्वालाटोली चौक के पास हुई। पुलिस ने इस मामले में कुछ बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया है। बताते हैं कि मुख्य हत्यारोपी शाहिद भी गिरफ्तार हो गया है। शाहिद के कहने पर उसके एक साथी ने गोली चलाई थी। गोली चलाने वाले का नाम राजा बताया जा रहा है। पुलिस अन्य हत्यारोपियों की तलाश में छापामारी कर रही है।हिंदपीढ़ी में हत्या की घटना के बाद लोग आक्रोशित हो उठे। वह हत्यारोपियों की गिरफ्तारी की मांग करने लगे। इसी बीच भीड़ ने हत्यारोपी शाहिद के घर को आग लगा दी। आग लगने के बाद इलाके में हड़कंप मच गया। हत्यारोपी के घर के पास कई घर थे। उनके घर में भी आग लगने का अंदेशा था। इस पर पुलिस ने फौरन दमकल की गाड़ियां बुलाईं और किसी तरह आग पर काबू पाया गया।

शाहिद से पहले भी हो चुका है झगड़ा

बताते हैं कि शाहिद से मुजाहिद का पहले भी झगड़ा हो चुका था। शनिवार की रात शाहिद चार-पांच युवकों के साथ आया और मुजाहिद को बुलाया। मुजाहिद उसके पास पहुंचा तो उससे नशे के लिए पैसे मांगने लगा। मुजाहिद ने रुपये देने से इंकार कर दिया तो वह उससे झगड़ा करने लगा।

हिंदपीढ़ी थाना पुलिस से की थी शिकायत लेकिन पुलिस ने शाहिद पर कोई कार्रवाई नहीं की

बताते हैं कि मुजाहिद ने पहले भी मामले की शिकायत हिंदपीढ़ी थाने से की थी। मगर, पुलिस ने शाहिद पर कोई कार्रवाई नहीं की थी। लोगों का कहना है कि अगर पुलिस शाहिद पर पहले ही कार्रवाई कर देती तो शायद हत्या की ये घटन नहीं होती।

Related posts