हजारीबाग:केंद्र सरकार की कुनीतियों के कारण महंगाई से जनता त्रस्त: प्रमोद कुमार गुप्ता



हजारीबाग/ बरकट्ठा:- झामुमो प्रखंड उपाध्यक्ष सह जिला मीडिया प्रभारी प्रमोद कुमार गुप्ता ने एक बयान जारी कर कहा कि आज देश के निम्न वर्गीय एवं मध्यम वर्गीय परिवार की स्थिति कमरतोड़ महंगाई के कारण चरमरा गई है। एक तरफ कोरोना महा मारी के दूसरे वेब ने अनगिनत लोगों का रोजगार छिना, कितनों का धंधा- व्यापार खत्म कर दिया। वहीं दूसरी तरफ केंद्र सरकार की कुनीतियों के कारण बेतहाशा महंगाई ने लोगों का घर चलाना मुश्किल कर दिया है। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी की तरह सरकार की महंगाई भी किसी महामारी से कम प्रतीत नहीं होता ।

पेट्रोल, डीजल, गैस सिलेंडर से लेकर खाद्य सामग्रियों में सरसों तेल, रिफाइन तेल इत्यादि की कीमत आसमान छू रही है और पिछले 1 वर्ष से इनके मूल्य में निरंतर बेतहाशा वृद्धि हुई है। इन सामग्रियों के मूल्य की बात करें तो डीजल ,पेट्रोल ₹100 के आसपास पहुंच गया है, गैस सिलेंडर ₹900 के करीब पहुंचने वाला है ।सरसों व रिफाइंड तेल के मूल्य भी लगभग ₹200 हो गए हैं। इन आवश्यक वस्तुओं की कीमतों में इतनी अधिक वृद्धि का सीधा असर निम्न व मध्यम वर्गीय परिवारों पर पड़ रहा है ।उन्होंने इसके लिए केंद्र सरकार को जिम्मेवार माना, क्योंकि केंद्र सरकार कोरोना महामारी में हुए आर्थिक नुकसान का भरपाई ऐसे परिवारों द्वारा नियमित इस्तेमाल होने वाले वस्तुओं पर टैक्स बढ़ाकर कर रही है। जहां केंद्र सरकार को इस महामारी में देश की जनता को हर संभव मदद करनी चाहिए थी तो उल्टा आम लोगों से टैक्स के जरिए राजस्व इकट्ठा करने में लगी हुई है ।इन वस्तुओं पर सरकार ज्यादा टैक्स वसूली नहीं करती तो आज महंगाई इतनी अधिक ना होती ।केंद्र सरकार देश के लोगों को बनावटी मुद्दों में गुमराह कर रही है ताकि लोगों का महंगाई के ऊपर ध्यान ना जा सके।

Related posts