बिहार:पुस्तक और कॉपी खरीद घोटाले के खिलाफ आइसा ने फूंका मुख्यमंत्री का पुतला,लूट का अड्डा बन गए हैं राज्य के विश्वविद्यालय



गया बिहार के विश्वविद्यालयों में पुस्तक और कॉपी खरीद को लेकर गड़बड़ी की बात सामने आने के बाद से छात्रों में काफी आक्रोश देखा जा रहा है। आज अनुग्रह मेमोरियल कॉलेज मुख्य द्वार पर छात्र संगठन आइसा ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का पुतला दहन किया। इस दौरान आइसा ने राज्य और केंद्र सरकार पर जमकर निशाना साधा।आइसा नेताओं ने कहा कि बिहार की शिक्षा व्यवस्था को नीतीश सरकार द्वारा लूट का अड्डा बना दिया गया है। राज्य स्तर पर आए कॉपी खरीद घोटाला इसका जीता जागता उदाहरण है। बिना किसी टेंडर के विश्वविद्यालयों द्वारा कॉपी खरीदी जा रही है। ऐसी किताबें जो किसी काम की नहीं है उन्हें भी खरीद कर विश्वविद्यालय घोटाले को अंजाम दे रहे हैं। नीतीश कुमार ने पूरे बिहार की उच्च शिक्षा को वेंटिलेटर पर डाल दिया है।आइसा के पूर्व राज्य उपाध्यक्ष तारिक अनवर ने कहा कि भाजपा-जदयू की सरकार ने पिछले 15 सालों में बिहार की शिक्षा व्यवस्था को बर्बाद कर दिया है। कुलपतियों द्वारा किए गए घोटाले के पैसे राजभवन से लेकर मुख्यमंत्री तक पहुंच रहे हैं। कॉपी घोटाले में जिस शख्स का नाम आ रहा है वह पहले बिहार के राजभवन में काम कर चुका है। उस व्यक्ति की गिरफ्तारी हो और कितने बड़े लोग संलिप्त हैं उसकी जांच कर उन पर कार्रवाई की जानी चाहिए।वहीं आइसा राज्य कार्यकारिणी सदस्य मो. शेरजहां व खूशबू कुमारी ने कहा कि नीतीश कुमार से बिहार की शिक्षा व्यवस्था चल नहीं पा रही है। नीतीश कुमार को इस्तीफा दे देना चाहिए। बिहार के हर कॉलेज को लूट का अड्डा बना दिया गया है।इस प्रदर्शन में आइसा के पूर्व राज्य उपाध्यक्ष तारिक अनवर, राज्य कार्यकारिणी सदस्य मो. शेरजहां व खूशबू कुमारी, आमीर तुफैल, अरविंद कुमार, काशिफ़, अलफू मल्लिक, अरहान खान, अलशैफ मल्लिक, आदर्श, आंनद, ज़ाकिर खान, कुणाल, मोज़ककीर खान, ज़ैद, सहित अन्य छात्र मौजूद थे।

Related posts