रांची:रूपा तिर्की की मौत का मामला जेल में बंद दारोगा शिव कुमार कनौजिया की आवाज की हुई रिकॉर्डिंग



रांची : साहिबगंज की महिला थाना प्रभारी रूपा तिर्की का शव बीते तीन मई को उनके सरकारी आवास में फंदे से झूलता पाया गया था. इस मामले में रूपा तिर्की के बैचमेट दारोगा शिव कुमार कनौजिया का आवाज रिकॉर्ड किया गया. रांची से गयी टीम (स्पेक्ट्रोग्राफी) ने साहिबगंज जेल में बंद शिव कुमार कनौजिया की आवाज को रिकॉर्ड किया. इस दौरान टीम के साथ केस के अनुसंधानकर्ता नगर इंस्पेक्टर शशि भूषण चौधरी की निगरानी में शिव कुमार कनौजिया की आवाज को काफी बारीक तरीके से रिकॉर्ड किया गया, ताकि चूक की कोई गुंजाइश ना रहे.मोबाइल फोन पर रिकॉर्ड आवाज की स्पेक्ट्रोग्राफी टेस्ट के तहत मिलान होगा रिकॉर्ड की गयी आवाज को वॉयस रिकॉर्डर में रिकॉर्ड सैंपल के तौर पर एक्सपर्ट फॉरेंसिक लैब में शिव कुमार कनौजिया की आवाज और मोबाइल फोन पर रिकॉर्ड आवाज की स्पेक्ट्रोग्राफी टेस्ट के तहत मिलान किया जाएगा. जानकारी के अनुसार ऑडियो क्लिप में आवाज किसकी और कब की है, यह केस का अहम सबूत है, उधर ऑडियो क्लिप के साथ कोई छेड़छाड़ तो नहीं हुई है, जैसी कई अन्य बिंदुओं पर भी फॉरेंसिक लैब में इस आवाज की जांच की जाएगी.

सीएम हेमंत सोरेन ने आयोग के गठन की दी थी मंजूरी
रूपा तिर्की की मौत मामले में सीएम हेमंत सोरेन ने बीते आठ जून को न्यायिक जांच के आदेश दिये थे. सेवानिवृत्त पूर्व मुख्य न्यायाधीश वीके गुप्ता को इस जांच की जिम्मेवारी दी गयी है. श्री गुप्ता को अपनी रिपोर्ट देने के लिए 6 महीने का समय दिया गया है.

पुलिस ने दारोगा शिव कनौजिया को गिरफ्तार कर लिया था
साहिबगंज महिला थाना प्रभारी रूपा तिर्की आत्महत्या मामले में साहिबगंज पुलिस ने 2018 बैच के दारोगा शिव कनौजिया को बीते 9 मई को गिरफ्तार कर लिया था. इस मामले में जिरवाबाड़ी थाना में कांड संख्या 127/21 दर्ज हुआ है. और आगे का अनुसंधान जारी है. गौरतलब है कि साहिबगंज पुलिस की जांच रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि रूपा तिर्की का केस हत्या का नहीं, बल्कि यह आत्महत्या का मामला है. रूपा तिर्की के बैचमेट शिव कुमार कनौजिया द्वारा रूपा तिर्की की भावनाओं को आहत किया गया. इसकी वजह से रूपा तिर्की ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. इस आत्महत्या के लिए प्रथम दृष्टया से शिव कुमार कनौजिया जिम्मेवार प्रतीत होते हैं. शिव कुमार कनौजिया 2018 बैच का एसआई है. वर्तमान में वो चाईबासा में पदस्थापित है. शिव और रूपा के बीच दोस्ती थी. मोबाइल पर दोनों के बीच अक्सर बात होती थी.

Related posts