18 नवंबर को रेजांगला युद्ध की गाथा को शौर्य दिवस के रूप में मनाया जाएगा: प्रदेश यादव महासभा



धनबाद: बुधवार को गांधी सेवा सदन हीरापुर धनबाद में प्रदेश यादव महासभा झारखंड के द्वारा प्रेस वार्ता का आयोजन किया गया। प्रेस वार्ता में महासभा के जिला अध्यक्ष अशोक यादव ने मीडिया को बताया कि प्रदेश यादव महासभा लगातार समाज से जुड़े मुद्दों को बुलंद करता रहा है। आगामी 18 नवंबर को रेजांगला युद्ध की गाथा को शौर्य दिवस के रूप में मनाया जाएगा। 1962 का युद्ध वीरता एवं राष्ट्र के प्रति हमारे समाज के योगदान को प्रदर्शित करता है। युवा यादव महासभा के जिला अध्यक्ष राकेश रंजन उर्फ चुन्ना यादव ने कहा कि लगभग एक सौ वर्षो पुरानी अहीर रेजिमेंट की मांग आज भी अधूरी है। इसके गठन के लिए यादव समाज संसद से लेकर सड़क तक संघर्ष करेगी। इस मांग को नई धार देने के लिए धनबाद में भी आगामी 18 नवंबर को शौर्य दिवस के रूप में मनाया जाएगा। जिसकी तैयारी जोर शोर से चल रही है। समाज के सारे संगठन कार्यक्रम में भाग लेंगे। कार्यक्रम की शुरुआत रेजांगला से आई पवित्र मिट्टी को कलश में रखा गया है जिसे चिल्ड्रन पार्क केंदुआ से मोटरसाइकिल जुलूस के रूप में धनबाद के मुख्य मार्ग बैंक मोड़ श्रमिक चौक रांगाटांड होते हुए रणधीर वर्मा चौक पर पहुंचेगी। चौक पर पहुंचने के बाद 5 सदस्यों की टीम अहीर रेजिमेंट की मांग को लेकर उपायुक्त महोदय को ज्ञापन सौंपेंगे।प्रेस वार्ता में जिला युवा यादव महासभा के जिला अध्यक्ष राकेश रंजन उर्फ चुन्ना यादव और वरीय समाजसेवी संजय कुशवाहा ने भी अपना समर्थन दिया मौके पर केंद्रीय सदस्य सुधीर यादव, बाबूलाल यादव, राधेश्याम यादव, रामाशंकर यादव, सुनील यादव, राजेश यादव, मुकेश यादव, श्रीकांत यादव, त्रिवेणी यादव, अशोक यादव, सचिदा यादव समेत अन्य उपस्थित थे।

Related posts