ईस्ट बसुरिया ओपी प्रभारी ने हाइवा चोरी के मामले में दो व्यक्ति को पकड़कर मारपीट की शफीर खान

चिरकुंडा-(धनबाद) : प्रदेश भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा की कार्यसमिति के सदस्य सह नेशनल एंटी करप्शन संस्था के जिलाध्यक्ष शफीर खान ने अपने अवासीय कार्यालय में प्रेस वार्ता का आयोजन किया। प्रेस वार्ता में वह जिला के पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों के व्यवहार पर जमकर बरसे। उन्होने बताया कि विगत 18 दिसंबर को पश्चिम बंगाल पुलिस के सहयोग से ईस्ट बसुरिया ओपी प्रभारी शंकर विश्वकर्मा उनके भतीजे सद्दाम हुसैन तथा उसके एक साथी पार्थो केडिया को हाइवा चोरी के मामले में पकड़ कर ले गए और पकड़ने की ऑफिसियल तिथि 21 दिसंबर बताई, तीन दिन तक पुलिस ने सिर्फ दोनों को पीटने के लिए रखा। जब उन दोनों से मिलने परिजन पहुंचे तो मिलने नहीं दिया गया, क्योंकि वे गंभीर रूप से जख्मी थे। पुलिस ने तीन दिन तक दोनों की जमकर पिटाई की। इस संदर्भ में जब पूछताछ करना चाहा तो ओपी प्रभारी शंकर विश्वकर्मा ने परिचय पूछा। जब परिचय एन्टी करप्शन संस्था के जिलाध्यक्ष के रूप में दिया तो वह उखड़ गए और अन्य गंभीर मामला में फंसाकर जेल भेजने की धमकी देने लगे। विवाद बढ़ता देख निरीक्षक ने समझाया तो मामला शांत हुआ। उन्होंने कहा कि हेमंत सोरेन की सरकार में पुलिसिया तंत्र एक गुंड़े की तरह सभ्य नागरिक से पेश आ रही है। उन्होंने बताया कि इस मामले को लेकर वह कोर्ट जाएंगे। न्याय नहीं मिलने पर चरणबद्ध तरिके से आंदोलन की भी बात कही। मौके पर नरेन्द्र भट्ट, राजन रजक,जूही खान, गुड्डु हैदर, दारा खान, धर्मेन्द्र राव, गोपाल राम, कुदन ठठेरा, पराजित सिंह, सोनू गोप आदि मौजूद थे।

Related posts