बिहार:लॉटरी का झांसा देकर ठगने वाले गिरोह के पांच सदस्य गिरफ्तार छह साथी पहले भी हो चुकें हैं गिरफ्तार

रोहतक :साइबर क्राइम थाना पुलिस ने लॉटरी का झांसा देकर ठगने वाले गिरोह के पांच सदस्यों को गिरफ्तार किया है। जिन्हें कोर्ट में पेश कर 10 दिन के रिमांड पर लिया गया है। जो लोगों को लाटरी में गाड़ी जीतने का झांसा देकर मोटी रकम ठगते थे। आरोपितों के छह साथी पहले ही गिरफ्तार हो चुके हैं।
साइबर क्राइम थाना प्रभारी कुलदीप सिंह ने बताया कि सोनीपत जिले के बहालगढ़ निवासी पवन कुमार ने शिकायत दर्ज कराई थी। इसमें बताया था कि फ्लिपकार्ट से उसके मोबाइल पर मैसेज आया था, जिसमें लिखा था कि उसने पहले इनाम के तौर पर महिंद्रा एक्सयूवी जीत है, जिसका रजिस्ट्रेशन चार्ज 6500 रुपये है। पीड़ित ने झांसे में आकर 11 लाख 97 हजार रुपये जमा करा दिए। जब जाकर उसे ठगी का पता चला। मार्च 2021 में यह मामला सोनीपत के राई थाने में दर्ज किया गया। बाद में इसकी जांच साइबर क्राइम थाना रोहतक को दी गई। एएसआइ कपिल के नेतृत्व में मामले की जांच की गई।
*बिहार के युवक चला रहे थे गिरोह*
इसके बाद ठग गिरोह के सदस्य बिहार के नवादा जिले के नैपुरा गांव निवासी निवासी मंजीत कुमार, अपसढ़ गांव निवासी सौरभ, गौरव, नालंदा जिले के रहने वाले विकास और निवास कुमार को गिरफ्तार किया गया। पांचों आरोपित अपने साथियों के साथ मिलकर गिरोह चलाते हैं।एनएफ.आरोपितों को कोर्ट में पेश कर 10 दिन के रिमांड पर लिया गया है। जिनसे पूछताछ की जा रही है। आरोपितों से पूछताछ के बाद कई अन्य मामले खुलने की संभावना है।ये आरोपित पहले ही पकड़े जा चुके इस गिरोह से जुड़े दिल्ली के मदनपुर खादर निवासी ताज मोहम्मद, बदरपुर निवासी पंकज कुमार रोशन, शक्ति विहार मिठापुर निवासी मनोज, उत्तर प्रदेश के फिरोजबाद निवासी राजीव, बिहार के नालंदा निवासी मुन्ना और विक्रम कुमार पहले ही पुलिस के हत्थे चढ़ चुके हैं। इन आरोपितों से पूछताछ के बाद गिरोह का पर्दाफाश हुआ था। इसके बाद बाकी आरोपितों को गिरफ्तार किया गया।

Related posts