उच्च विद्यालय खैरा में सतत जीवन दर्शन में योग की भूमिका पर संगोष्ठी आयोजित

जमुई से सरोज कुमार दुबे की रिपोर्ट

जिले के खैरा प्रखंड क्षेत्र अंतर्गत बुधवार को प्लस टू उच्च विद्यालय खैरा के दर्शन शास्त्र विभाग के तत्वाधान में सतत जीवन दर्शन में योग की भूमिका विषय पर एक दिवसीय संगोष्ठी का आयोजन किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता विद्यालय के प्रभारी प्राचार्य चंद्रमोहन रविदास ने किया। कार्यक्रम का उद्घाटन डॉ रवीश, डॉ शैलेंद्र, प्रिया कुमारी व संजीव कुमार बनर्जी ने संयुक्त रूप दीप प्रज्वलित कर किया। मौके पर शिक्षक रामरतन सिंह ने योग दर्शन की तुलना दर्पण से करते हुए इसे जीवन के लिए उपयोगी बताया।कार्यक्रम का संचालन करते हुए डॉ शैलेंद्र ने विस्तृत रूप से योग दर्शन की महत्ता पर प्रकाश डाला। साथ ही बताया कि अष्टांग योग को अपनाकर मानव अपने चरम लक्ष्य मोक्ष की प्राप्ति कर सकता है।शिक्षक मुस्लिम अंसारी, शंभू राम, मिथिलेश पांडेय एवं अन्य ने भी जीवन के लिए योग की महत्ता विषय पर अपने विचार रखें। मौके पर अंजनी कुमार महतो, प्रिया कुमारी सिंह, राजेश रंजन, मृत्युंजय कुमार, नीतीश कुमार, सुनील कुमार मिश्रा, विजय कुमार पांडेय, सिंकु कुमारी सहित विद्यालय के सैकड़ों छात्र उपस्थित रहे।

Related posts